परियोजना के पीछे विशेषज्ञों का दावा है कि “विलुप्त होने” की तकनीक पहले से मौजूद है, लेकिन अन्य संदेहजनक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.